मेरा पानी मेरी विरासत योजना: ऑनलाइन आवेदन, Mera Pani Meri Virasat रजिस्ट्रेशन

mera pani meri virasat yojana

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना रजिस्ट्रेशन | Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme Form | Mera Pani Meri Virasat Yojana Apply | मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन आवेदन

mera pani meri virasat yojana

मेरा पानी मेरी विरासत योजना हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने लांच की है. इस योजना के अंतर्गत हरियाणा में डार्क जोन वाले क्षेत्रों में धान की खेती को छोड़कर वैकल्पिक फसलों की बुवाई करने वाले किसानों को प्रति एकड़ 7 हजार रूपए की आर्थिक मदद दी जायेगी. Mera Pani Meri Virasat Yojana के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने जैसे आवेदन प्रक्रिया, दस्तावेज, पात्रता आदि की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े.

मेरा पानी मेरी विरासत योजना | Mera Pani Meri Virasat Scheme

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल खट्टर ने योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया की हरियाणा में कुछ राज्य डार्क जोन में हैं. जहां पिछले 12 वर्षों में भू-जल स्तर में पानी की गिरावट दोगुनी हुई है अर्थात जहां पानी की गहराई 20 मीटर थी, वह आज 40 मीटर हो गई है। इस योजना के पहले चरण में 19 ब्लॉक शामिल किये गए है, जिनमें भू-जल की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है. जिन आठ ब्लॉकों में धान की रोपाई ज्यादा है उन ब्लॉकों में कैथल के सीवन और गुहला, सिरसा, फतेहाबाद में रतिया और कुरुक्षेत्र में शाहाबाद, इस्माइलाबाद, पिपली और बबैन शामिल हैं।

इसके आलावा मेरा पानी मेरी विरासत योजना में वह क्षेत्र भी शामिल होंगे जहाँ 50 हार्सपावर से अधिक क्षमता वाले ट्यूबवेल का इस्तेमाल किया जा रहा है. जिन ब्लॉक में पानी 35 मीटर से नीचे है, वहां पंचायती जमीन पर धान की खेती की अनुमति नहीं मिलेगी। किसान धान की खेती के आलावा अन्य वैकल्पिक फसलें मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास, सब्जी की खेती कर सकते हैं।

Haryana Mera Pani Meri Virasat

योजना का नाम मेरा पानी मेरी विरासत योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानो को प्रोत्साहन धनराशि प्रदान करना

Mera Pani Meri Virasat Scheme Haryana की विशेषताएं

  • प्रदेश में जल संरक्षण के लिए मेरा पानी-मेरी विरासत योजना की शुरुआत की गई।
  • हरियाणा के डार्क जोन में रहने वाले किसान धान की खेती को छोड़कर अन्य वैकल्पिक फसलों की खेती करने पर 7000 रूपए प्रति एकड़ सहायता राशि प्रदान की जायेगी.
  • हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने यह भी जानकारी दी कि मेरा पानी-मेरी विरासत योजना के प्रचार के लिए जल्द ही वेब पोर्टल बनाया जाएगा जिस पर किसान अपनी समस्याओं का निदान पाने के लिए आवाज उठा सकेंगे |
  • हरियाणा राज्य के दुसरे राज्य के इच्छुक किसान जो धान की खेती को छोड़ना चाहते हैं वो भी इस योजना में शामिल हो सकते है.
  • इस योजना के तहत मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास और सब्जी की खेती की जाएग | इन फसलों की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना में आवेदन कैसे करे?

हरियाणा राज्य के इच्छुक लाभार्थी किसान जो मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए पंजीकरण करना चाहते है, उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा. जल्द ही इस योजना से सम्बंधित वेब पोर्टल शुरू कर दिया जाएगा. जहाँ पर लाभार्थी किसान ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे, तथा योजना से सम्बंधित किसी भी प्रकार की परेशानी का समाधान पा सकेंगे. इस योजना से सम्बंधित यदि हमें कोई जानकारी मिलती है तो इस लेख के माध्यम से आपको अवगत करा दिया जाएगा.