Sri Lanka Crisis: बेतहाशा कर्ज में डूबे ये 12 देश पहुंच चुके हैं तबाही के कगार पर, श्रीलंका के बाद पाकिस्तान भी उसी रास्ते पर

श्रीलंका में संकट दिन ब दिन गहराता जा रहा है। देश छोड़कर भागे राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने इस्तीफा दे दिया है। 51 अरब डॉलर के विदेशी कर्ज के बोझ तले दबे इस देश की जनता सड़कों पर उतर आई है. वहीं श्रीलंका के बाद अब पाकिस्तान भी दिवालिया होने की कगार पर है। पाकिस्तान पर कर्ज का बोझ तेजी से बढ़ा है और विदेशी मुद्रा भंडार समाप्त हो गया है, जिसके बाद क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों ने चिंता व्यक्त की है।

श्रीलंका, लेबनान, रूस, सूरीनाम और जाम्बिया पहले से ही दिवालियेपन में हैं और कम से कम एक दर्जन देश दिवालिया होने के संदेह में हैं। इसमें पाकिस्तान, ट्यूनीशिया, यूक्रेन, घाना, इथियोपिया, इक्वाडोर, अर्जेंटीना, बेलारूस, मिस्र, केन्या, अल सल्वाडोर, नाइजीरिया शामिल हैं। हालांकि रूस के दिवालिया होने की वजह पैसों की कमी नहीं है। यूक्रेन के खिलाफ रूस की सैन्य कार्रवाई के बाद, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोप ने वास्तव में मौद्रिक लेनदेन पर प्रतिबंध सहित कई प्रतिबंध लगाए हैं। इस वजह से रूस को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं, पाकिस्तान की बात करें तो देश की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार गिरकर 9.8 अरब डॉलर पर आ गया है, जिससे आवश्यक वस्तुओं के आयात में समस्या आ सकती है। पाकिस्तानी रुपया कमजोर होकर रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया है। देश में नई सरकार आई है लेकिन आर्थिक मोर्चे पर उसके सामने कई चुनौतियां हैं। वहीं, पाकिस्तान को आईएमएफ के साथ स्टाफ-स्तरीय समझौते के लिए मंजूरी मिल गई है। 1.17 अरब डॉलर के ऋण किश्त पर समझौता हुआ है।

जबकि पिछले महीने रूस के लिए प्रतिबंध नहीं थे, बेलारूस को इसी तरह के प्रतिबंधों का सामना करना पड़ रहा है, जो यूक्रेन के साथ युद्ध में रूस के साथ था। लैटिन अमेरिकी देश इक्वाडोर दो साल पहले दिवालिया हो गया था, लेकिन हिंसक विरोध और राष्ट्रपति गुइलेर्मो लासो को हटाने के प्रयासों ने इसे संकट में डाल दिया है।

Leave a Comment

Aadhaar Card Status Check Online PM Kisan eKYC Kaise Kare Top 5 Mallika Sherawat Hot Bold scenes