Results

शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना – आवेदन करे और पाए 10,000 रु।

शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना | शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना ऑनलाइन आवेदन | स्ट्रीट वेंडर लोन योजना | शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना रजिस्ट्रेशन फॉर्म | Shahari Path Vyavsayi Utthan Yojana

शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना: कोरोना वायरस के कारण भारत में लॉकडाउन के चलते सभी क्षेत्र बहुत बुरी तरह से प्रभावित हुए है. इनमे छोटे व्यवसायी जो छोटा मोटा काम करके अपना गुजारा करते है, उन्हें भी काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.

ऐसे में भारत सरकार ने अपने बजट घोषणा पत्र में, व्यवसायियों की परेशानियों को देखते हुए “शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना” का शुभारम्भ किया है. इस योजना के तहत व्यवसायी अपना कारोबार दोबारा से शुरू करने के लिए 10000 रूपए तक का ऋण ले सकते है. इस आर्टिकल में हम इस योजना के बारे में जानकारी प्रदान करने जा रहें है, इसलिए आपसे अनुरोध है, की लेख को अंत तक जरूर पढ़ें.

क्या है शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना ?

यह केंद्र सरकार की लाभकारी योजनाओं में से एक है, जिसे प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर निधि कार्यक्रम के अंतर्गत निकाली गयी है। इस योजना के तहत स्ट्रीट वेंडर, छोटे व्यवसायियों को कार्यशील पूँजी के रूप में 10000 रूपए ऋण के रूप में उपलब्ध कराई जाएंगी।

Also Read: ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड’ – 1 जून 2020 से देश में लागु, ऐसे बनाये नया राशन कार्ड।

शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना के लाभ –

  • इस योजना के तहत शहरी व्यवसायियो को ₹10,000 की कार्यशील पूंजी ऋण के रूप में उपलब्ध कराई जाएंगी। इस राशि के ब्याज पर 7% सब्सिडी केंद्र सरकार द्वारा दी जाएंगी।
  • प्रदेश के शहरी व्यवसायियों की मदद के लिए कार्यशील पूंजी के ऋण पर शेष ब्याज (लगभग 5%) की राशि सब्सिडी के रूप में मध्यप्रदेश शासन देगा। (केवल मध्यप्रदेश वालो के लिए)
  • शहरी असंगठित कामकारो को उनकी मांग के आधार पर कार्यशील पूंजी उपलब्ध कराई जाएंगी।

शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना में आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर
  • समग्र नंबर
  • बैंक खाता नंबर बैक का आईएफएससी कोड

शहरी पथ व्यवसायी उत्थान योजना के लिए आवेदन कैसे करे ?

  • सबसे पहले आवेदक को इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • आधिकारिक वेबसाइट खुलने के बाद आपको “पंजीयन करे” विकल्प से पंजीयन प्रारंभ करें।
  • मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त करें एवं उसकी प्रविष्टि कर जिला नगरीय निकाय पथ विक्रता चुनें।
  • अपना आधार नम्बर प्रविष्ट करें ओैर आधार से लिंक मोबाइल नम्बर पर प्राप्त ओटीपी प्रविष्ट कर स्वयं का सत्यापन करें।
  • आधार से मोबाइल लिंक नही होने की स्थि‍ति में किसी कियोस्क पर बायोमेट्रिक माध्यम से आधार सत्याापन करा सकते हैं।
  • आधार सत्यासपन उपरांत समग्र नम्बर की प्रविष्टि करें। समग्र नम्बर सही होने पर परिवार के सदस्यों का विविरण स्वतः आ जाएगा। कृपया ध्यान दें कि आपके आधार और समग्र दोनों के प्रथम नाम एक समान होना चाहिए। अंतर होने पर पंजीयन नही हो सकेगा। ऐसी स्थिति में समग्र अथवा आधार की जानकारी में आवश्यक सुधार करवाएं तदुपरांत पंजीयन करें।
  • परिवार के सदस्यों का समग्र से प्राप्त विवरण में उन सदस्‍यों को चुनें जो आपके व्यवसाय में सहयोग करते हैं।
  • आपने वांछित व्यएवसाय के बारे में अन्य जानकारी प्रदान करें और भरी हुई जानकारी सबमिट करें।
  • घोषणा के बिन्दुओ को चेक करें एवं अपना आवेदन सबमिट करें।
  • आवेदन सबमिट करने के बाद पावती प्राप्त होगी जिसे प्रिंट कर/स्क्रीनशॉट लेकर सुरक्षित रखें। सा‍थ ही आपके मोबाइल पर आवेंदन क्रमांक सहित पावती के रूप में प्राप्त् होगा।
  • आपके द्वारा प्रस्तुरत आवेदन का संबधित नगरीय निकाय द्वारा सत्या्पन कराया जाएगा। जानकारी सही प्राप्ता हो जाने पर आपको परिचय पत्र एवं प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा।
  • सत्यापन के दौरान विसंगति जाने पर सुधार का एक अवसर दिया जाएगा। जिसकी सूचना SMS से दी जाएगी। त्रटि सुधार के लिए पोर्टल पर “अपडेट करे” विकल्प की सहायता से मोबाइल नंबर ओटीपी प्रविष्ट कर आवश्यक संशोधन करें।
  • पथ विक्रेता के रूप में पहचान पत्र एवं प्रमाण पत्र जारी किए जाने की सूचना SMS के माध्यरम से भी दी जाएगी एवं दोनों अभिलेखों का लिंक भी भेजा जाएगा जिससे पथ विक्रेता स्व्यं डाउनलोड कर सकेंगे।

Other Links

(रजिस्ट्रेशन) दिल्ली मजदूर सहायता योजना : मजदूरों को मिलेंगे Rs. 5000 की धनराशि

SMAM योजना | कृषि यन्त्र खरीदने पर 50-80 प्रतिशत तक मिलेगी सब्सिडी | जानिये रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

Published by
Paras