DB COOPER: एक अमेरिकन हाईजैकर जो फिरौती लेकर आसमान से ही गायब हो गया

एफबीआई ने उसका स्केच बनवाया, लेकिन अंत में डीबी कूपर का केस बंद कर दिया गया। यह अमेरिका के लिए एक शर्मनाक घटना थी जहां एक रहस्यमय अपहर्ता अपने पीछे अवर्णनीय सवालों को छोड़ गया।

अमेरिका का सबसे रहस्यमय अपहरणकर्ता डीबी कूपर, जिसने एक उड़ते हुए विमान को हाईजैक कर लिया और फिरौती के साथ आसमान से गायब हो गया। अमेरिकी खुफिया सेवा अब तक यह पता लगाने में नाकाम रही है कि यह रहस्यमय अपहरणकर्ता कौन था और कहां गायब हो गया। यह घटना 1971 की है जब डीबी कूपर नाम के एक शख्स ने बोइंग 727 विमान को हाईजैक कर लिया था।

डीबी कूपर 1971 में प्रोफेशनल पर्सनैलिटी के तौर पर एयरपोर्ट पहुंचे थे। इसके बाद उन्होंने काउंटर पर सिएटल के लिए एक हवाई जहाज का टिकट लिया, जहां उन्होंने खुद को डैन कूपर नाम दिया। डीबी कूपर ने झूठे नाम से यह टिकट बुक कराया था। टिकट मिलने के बाद कूपर विमान में चढ़ गए और सीधे अपनी सीट पर चले गए। उन्हें बोइंग 727 नामक विमान में उड़ान भरनी थी।

जैसे ही विमान ने उड़ान भरी, डीबी कूपर ने एक कागज के टुकड़े पर कुछ लिखा और फ्लाइट अटेंडेंट को दे दिया। फ्लाइट अटेंडेंट ने बिना पढ़े नोट को अपनी जेब में रख लिया और सोचा कि यह कोई अकेला व्यवसायी होगा जिसने उसे नंबर दिया होगा। थोड़ी देर बाद कूपर ने पूछा कि क्या आपने पढ़ा कि मैंने क्या लिखा है! इस पर अटेंडेंट ने नोट निकाला और उसे पढ़ते ही चेहरे के भाव बदल गए। इसने कहा “मेरे पास एक बम है”।

कूपर ने जब उसे सच दिखाने के लिए अपना बैग खोला, तो उसमें वास्तव में एक बम था। इसके बाद कूपर ने अपनी आवश्यकताओं और शर्तों के साथ कहा कि विमान निकटतम हवाई अड्डे पर उतरेगा और ईंधन भरेगा। इसके अलावा करीब दो लाख डॉलर और चार पैराशूट मांगे। कूपर के लिए इन सभी शर्तों को पायलट को सूचित किया गया था और पायलट ने अपहरण और सिएटल एटीसी (एयर ट्रैफिक कंट्रोल) के दावे की सूचना दी थी।

अपहरण की खबर ने अमेरिकी प्रशासन के साथ-साथ एफबीआई के भी कान खड़े कर दिए। यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए कूपर की सभी जरूरतों को पूरा किया गया। एफबीआई ने बैंकनोटों पर संख्याओं को कुशलता से नोट किया ताकि बाद में उनका आसानी से पता लगाया जा सके। विमान ने रात के अंधेरे में फिर से उड़ान भरी और कूपर ने उसे मेक्सिको जाने के लिए कहा। यहां भी अमेरिकी वायुसेना ने उस विमान का पीछा किया।

विमान अभी भी हवा में था कि कूपर ने सभी यात्रियों को पायलट कक्ष में जाने के लिए कहा। साथ ही कहा, उस दरवाजे को अंदर से बंद कर दो। कुछ ही देर में पायलट को लगा कि प्लेन में हवा का दबाव ज्यादा होने लगा है। विमान के सह-पायलट ने जाकर देखा कि विमान का दरवाजा खुला हुआ है और अपहरणकर्ता कूपर गायब है। पायलट समझ गया कि वह दरवाजे से नीचे कूद गया है। विमान जब एयरपोर्ट पर उतरा तो जांच शुरू हुई लेकिन डीबी कूपर लापता रहा।

कई सालों तक अमेरिकी खुफिया सेवा पूरे देश में तलाशी लेती रही, लेकिन डीबी कूपर और उसे दिए गए नोटों का कुछ पता नहीं चला। एफबीआई ने अपना स्केच तो बनवाया लेकिन अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि वास्तव में डीबी कूपर कौन था जो उड़ते हुए विमान से गायब हो गया था। विमान का पीछा करने वाले दो अमेरिकी सैन्य विमानों ने भी आसमान में कोई पैराशूट नहीं देखा।

Leave a Comment

Aadhaar Card Status Check Online PM Kisan eKYC Kaise Kare Top 5 Mallika Sherawat Hot Bold scenes