MGNREGA Job Card List, नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2020-21 – State Wise NREGA Job Card List Download

MGNREGA Job Card List

MGNREGA Job Card List | नरेगा जॉब कार्ड 2020 | NREGA Job Card List |  State Wise NREGA Job Card | NREGA Job Card List Download |NREGA Job Card List Download Online | Check NREGA Job Card List | नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट कैसे देखें?

हर वर्ष नरेगा जाब कार्ड सूची को अपडेट किया जाता है। यह प्रक्रिया पूरी तरह आनलाइन हैं। तथा हर वर्ष नए नामों को मनरेगा योजना के तहत जोड़ा जाता है। इसका एक लाभ यह है कि हर वर्ष सरकार नए लोगों को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करती है। तथा जिनका मनरेगा कार्ड नहीं बना है वे इसके लिए आवेदन फार्म जमा कर सकते हैं|

MGNREGA Job Card List, नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2020-21

नरेगा जॉब कार्ड सूची 2020 | मनरेगा नौकरी की सूची: ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार को नरेगा के रूप में भी जाना जाता है, जो ज्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले गरीब परिवारों को महात्मा गांधी जॉब कार्ड ( MGNREGA Job 2020 ) के वितरण के लिए जिम्मेदार है।

(Mahatma Gandhi Employment List) मनरेगा द्वारा नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2020 जारी की गई है, जिसे राज्यवार (State Wise NREGA Job Card List Download) नीचे देखा जा सकता है। नरेगा योजना शुरू करने के पीछे मकसद ग्रामीण क्षेत्रों से जुड़े लोगों के मानक को ऊपर उठाना है। नरेगा जॉब कार्ड सूची (NREGA Job Card List Name Wise) में अपना नाम जांचें, नीचे दिए राज्य वार जॉब कार्ड सूची की लिंक और जांच कैसे करें।

भारत सरकार ने 2005 में MNREGA Act पारित किया था। महात्मा गांधी रोजगार गारंटी अधिनियम 2005 के रूप में जाना जाता था, गरीब लोगों के लिए उपकरण है जिसके द्वारा वे अकुशल श्रम कार्य करके पैसा कमा सकते हैं।

MGNREGA Job Card List

MGNREGA Job Card List

नरेगा जॉब कार्ड के प्रमुख उद्देश्य

  • नरेगा जाब कार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य भारत में गरीब बेरोजगार युवाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।
  • बेरोजगारी को जड़ से खत्म करना है।
  • अधिक से अधिक लोगों को रोजगार प्रदान करना है।
  • इसके अंतर्गत सभी गांवों और शहरों के परिवार सम्मिलित हैं।

नरेगा जॉब कार्ड सूची के निर्धारित मापदंड

  • उम्मीदवार को भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • उम्मीदवार ग्राम पंचायत व गांव का सदस्य होना चाहिए।

State Wise NREGA Job Card List Download |  नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट

इस योजना के तहत, विभिन्न राज्यों की सरकार गरीब लोगों को रोजगार देने का अवसर प्रदान करती है। नरेगा योजना (NREGA Yojana) वित्तीय वर्ष में 100 दिनों तक अकुशल श्रम कार्य प्रदान करती थी।

ग्रामीण विकास मंत्रालय (Ministry of Rural Development) सभी राज्यों के लिए गरीब नागरिक के लिए जॉब कार्ड (Job Card 2020) तैयार करने के लिए जिम्मेदार है और इसे मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट (official website) के माध्यम से डाउनलोड कर सकते है।

उम्मीदवार www.nrega.nic.in पर जाकर चेक कर सकते है। उम्मीदवार अपने बैंक जाते हैं जो MNERGA जॉब्स कार्ड संलग्न करते हैं। फिर अपनी बैंक पासबुक में प्रवेश करें और सभी बैंक लेन-देन की जांच करें, यदि भुगतान खाते में आ गया है तो आप बैंक पासबुक मुद्रित के बारे में अपने पासबुक प्रविष्टि विवरण की जांच कर सकते हैं। इसलिए उम्मीदवार नवीनतम अपडेट के बारे में नियमित रूप से इस वेब पेज पर जाएं।

नीचे आपको राज्यवार की सूचि दी गई है नीचे देख सकते है।

State (राज्य) Job Card Description (विवरण)
ANDAMAN AND NICOBAR(अण्डमान और निकोबार) Click Here
ANDHRA PRADESH(आन्ध्र प्रदेश) Click Here
ARUNACHAL PRADESH(अरुणाचल प्रदेश) Click Here
ASSAM(असम) Click Here
BIHAR(बिहार) Click Here
CHANDIGARH(चण्डीगढ़) Click Here
CHHATTISGARH(छत्तीसगढ़) Click Here
DADRA & NAGAR HAVELI(दादरा और नगर हवेली) Click Here
DAMAN & DIU(दमन और दीव) Click Here
GOA(गोवा) Click Here
GUJARAT(गुजरात) Click Here
HARYANA(हरियाणा) Click Here
HIMACHAL PRADESH(हिमाचल प्रदेश) Click Here
JAMMU AND KASHMIR(जम्मू और कश्मीर) Click Here
JHARKHAND(झारखण्ड) Click Here
KARNATAKA(कर्नाटक) Click Here
KERALA(केरल) Click Here
LAKSHADWEEP(लक्षद्वीप) Click Here
MADHYA PRADESH(मध्य प्रदेश) Click Here
MAHARASHTRA(महाराष्ट्र) Click Here
MANIPUR(मणिपुर) Click Here
MEGHALAYA(मेघालय) Click Here
MIZORAM(मिज़ोरम) Click Here
NAGALAND(नागालैण्ड) Click Here
ODISHA(ओडिशा) Click Here
PONDICHERRY(पुदुच्चेरी) Click Here
PUNJAB(पंजाब) Click Here
RAJASTHAN(राजस्थान) Click Here
SIKKIM(सिक्किम) Click Here
TAMIL NADU(तमिल नाडु) Click Here
TRIPURA(त्रिपुरा) Click Here
TELANGANA(तेलंगाना) Click Here
UTTAR PRADESH(उत्तर प्रदेश) Click Here
UTTARAKHAND(उत्तराखण्ड) Click Here
WEST BENGAL(पश्चिम बंगाल) Click Here

MGNREGA Job Card List Kese Dekhe | नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट कैसे देखें? 

  • सबसे पहले आप मनरेगा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा जिसका आधिकारिक पोर्टल www.nrega.nic.in है ।
  • या फिर आप ऊपर दी गई लिस्ट में अपने राज्य के आगे दी गई लिंक पर क्लिक करें।
MGNREGA Job Card List 2020

MGNREGA Job Card List 2020

  • अब आपके सामने पेज ओपन होगा जिसमे आपको जिला, वित्तीय वर्ष, पंचायत और ब्लॉक से संबंधित जानकारी प्रदान करना है।
  • एक बार सभी विवरण भर जाने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने नरेगा जॉब कार्ड 2020 लिस्ट दिखाई देगी। अब आप जॉब कार्ड की सूची में दिए गए नाम की जांच कर सकते है।

अन्य योजनाएं:

Jan Suchan Portal Rajasthan 2020, राजस्थान जन सूचना पोर्टल राजस्‍थान योजनाओ की सूची (List)
Rajasthan मुख्यमंत्री छात्रवर्ती योजना 2020 – How to Apply Online For Rajasthan Scholarship Yojana
PM Kisan Samman Nidhi List 2020 | किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट में नाम कैसे देखे?
प्रधानमंत्री आवास योजना नई ल‍िस्‍ट 2020 में अपना नाम कैसे देखें
PM Kisan Yojana Status 2020 | प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्टेटस
Pradhan Mantri Awas Yojana 2020 – How to apply for प्रधानमंत्री आवास योजना
उत्तर प्रदेश ड्राइविंग लाइसेंस आवेदन (एप्लीकेशन फॉर्म) @ sarathi.parivahan.gov.in
राजस्थान प्रवासी मजदूर घर वापसी योजना: Rajasthan Migrant Workers Registration

खाते में नही आये PM Kisan Scheme के पैसे तो यहाँ करे कॉल, तुरंत बन जाएगा काम

PM Kisan Scheme Details, PM Kisan Scheme Apply Online, PM Kisan Scheme Application Status, PM किसान स्कीम Application Form, PM किसान स्कीम Apply Last Date, PM Kisan Scheme Beneficiary List, PM किसान स्कीम, PM Kisan Scheme in Hindi

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना: किसानों के हित के लिए शुरू की गयी एक लाभकारी योजना है, जिसके अंतर्गत किसानों को 6000 रूपए सालाना दिए जाते है. यदि आपने पीएम किसान सम्मान निधि योजना में रजिस्ट्रेशन करवाया है, और आपको एक भी क़िस्त नहीं मिली है, तो आप सरकार द्वारा जारी किये गए हेल्पलाइन नंबर पर फ़ोन करके अपनी समस्या का समाधान पा सकते हो.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना | PM Kisan Samman Nidhi Yojana

पीएम किसान सम्मान निधि की शुरुआत प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा की गयी थी, जिसके अंतर्गत किसानों को सालाना 6000 रूपए दिए जाते है. यह 6000 रूपए 2000-2000 की तीन किस्तों में दिए जाते है. इस योजना का पैसा लाभार्थी के बैंक खाते में DBT के माध्यम से सीधे ट्रांसफर किये जाते है.

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म, PMKSY 2020

कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए लॉकडाउन के चलते देश के प्रत्येक वर्ग के व्यक्ति को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. इस समस्या को देखते हुए PM Kisan Samman Nidhi Yojana की 2000 की क़िस्त लाभार्थी किसानों के खातों में हस्तांतरित कर दी गयी है. मगर अभी भी ऐसे कुछ किसान है, जिन्होंने इस योजना में रजिस्ट्रेशन तो करवा लिया है, मगर उनको अब भी इस योजना का लाभ नही मिल रहा है ऐसे में आज हम उनको बतायेगे कि वो किस प्रकार इस योजना में रुको हुई क़िस्त को प्राप्त कर सकता है.

PM Kisan Helpline Number

PM kisan scheme के तहत PM kisan Samman Nidhi Yojana में जिन किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिला है, उनके लिए सरकार ने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. किसान इन हेल्पलाइन नंबर पर बात कर अपनी समस्या का समाधान पा सकते है.

  • PM kisan हेल्फ्लाइन नम्बर 155261
  • PM kisan टोल फ्री नम्बर 18001155266
  • kisan हेल्फ्लाइन नम्बर 01206025109
  • लेंडलाइन नम्बर 011-23381092,23382401

(आवेदन) अटल पेंशन योजना 2020 | Atal Pension Yojana | APY Chart & Benefits

ऐसे चेक करें पीएम किसान योजना स्टेटस ?

यदि आपने PM Kisan Samman Nidhi Yojana में आवेदन किया है, और आप देखना चाहते है, कही कोई दस्तावेजो कि गलत जानकारी कि वजह से क़िस्त तो नही रुक गई है. PM Kisan Yojna Payment Status की जानकारी आपको पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर प्राप्त कर सकते है.

  • सर्वप्रथन आधिकारिक वेबसाइट को ओपन करें.
  • आधिकारिक वेबसाइट ओपन होने के बाद इसके बाद आपको इसमें farmer corner पर जाना होगा।
  • अब नया पेज ओपन होगा जिसमें आपको जिले,राज्य,गाव,तहसील का सारा डाटा दर्ज करना है.
  • उसके बाद आपको Get Report पर ओके करना है और आप इसकी सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हो.
  • यदि आपके फॉर्म में त्रुटि के कारण आपको किसान सम्मान योजना का लाभ नहीं मिल रहा है तो आप PM Kisan Yojna App डाउनलोड कर, अपने आवेदन फॉर्म में आवश्यक सुधार कर सकते हो.

1 जून 2020 से शुरू होगी एक देश एक राशन कार्ड योजना | One Nation One Ration Card

एक देश एक राशन कार्ड योजना | वन नेशन वन राशन कार्ड योजना | एक राष्ट्र एक राशन कार्ड | One Nation One Ration Card Scheme

एक देश एक राशन कार्ड योजना को लेकर बड़ी खबर यह आ रही है की यह योजना 1 जून 2020 से केंद्रशासित प्रदेशों और राज्यों में लागू हो जायेगी.

एक देश एक राशन कार्ड: दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हो कि कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण भारत देश में लोगडाउन के चलते श्रमिकों, किसानों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है. दोस्तों आज हम आपको राशन कार्ड से संबंधित एक योजना के बारे में अवगत कराने जा रहे हैं. जिसका नाम है एक देश एक राशन कार्ड योजना।

एक देश एक राशन कार्ड योजना 2020

राशन कार्ड एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है जिसके माध्यम से सरकारी उचित मूल्य की दुकानों से उचित दरों पर राशन सामग्री जैसे गेहूं, चावल, चीनी, केरोसिन, इत्यादि उचित दरों पर मिल जाती है. राशन कार्ड जिस जिले का बना होता है वह राशन कार्ड उसी जिले में काम आता है मतलब आप जिस जिले में है उसी जिले में राशन सामग्री प्राप्त कर सकते हैं. लेकिन केंद्र सरकार ने राशन कार्ड को लेकर एक नई घोषणा की है जिसके तहत कोई भी व्यक्ति किसी दूसरे जिले में जाकर अपने हिस्से का राशन प्राप्त कर सकता है इस योजना का नाम है वन नेशन वन राशन कार्ड योजना (One Nation One Ration Card Scheme)। दोस्तों यह योजना 1 जून 2020 से शुरू होने जा रही है सरकार डेटाबेस के आधार पर सभी पुराने राशन कार्ड इस योजना में बदल दिए जाएंगे.

जून में बदलेंगे राशन कार्ड के नियम

देश में कोरोनावायरस के कारण लोग डाउन लगा हुआ है केंद्र सरकार ने लोकडाउन के बीच राशन कार्डों को एक देश एक राशन कार्ड में बदलने का आदेश जारी कर दिया है. एक देश एक राशन कार्ड योजना के तहत अब लोग अपने राशन कार्ड से पूरे देश में कहीं भी राशन प्राप्त कर सकेंगे इस योजना में एक राज्य का नागरिक दूसरे राज्य में भी अपने हिस्से का राशन प्राप्त कर सकेगा। अब तक केवल अपने क्षेत्र की राशन की दुकानों से ही राशन खरीद सकते थे किंतु वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के तहत यह नीति बदल जाएगी इससे प्रवासी मजदूरों को काफी फायदा होगा.

नए राशन कार्ड के लिए ऐसे करें आवेदन ?

यदि आपने अभी तक राशन कार्ड नहीं बनवाया है तो यह लेख आपके लिए काफी फायदेमंद सिद्ध होने वाला है इस लेख में हम आपको नए राशन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करना है इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं. वर्तमान में दो राशन कार्ड प्रचलन में है एपीएल और बीपीएल। आपकी आय के अनुसार और पारिवारिक स्थिति के अनुसार इन दोनों राशन कार्डों में से कोई एक राशन कार्ड आपको दिया जाता है. राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन निम्न प्रकार से कर सकते हैं.

  • सर्वप्रथम आवेदक को अपने राज्य के खाद्य विभाग के आधिकारिक पोर्टल पर जाना होगा।
  • आधिकारिक पोर्टल ओपन होने के बाद E Coupen राशन कार्ड लिंक मिल जाएगा।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है.
  • ऑप्शन पर क्लिक करते ही स्क्रीन पर अगला पेज ओपन हो जाएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर डालना होगा और सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट करने के बाद आपको एक ओटीपी प्राप्त होगा वेरीफाई करने के लिए वेबसाइट में वही सबमिट करें और एक बार यह स्थापित हो जाने के बाद एक फॉर्म और खुल जाएगा।
  • अब सबमिट करने का विवरण अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होगा जहां आपको उन्हें सबमिट करने की आवश्यकता है.
  • कुछ मूल विवरण और परिवार के मुखिया का नाम, आयु, आधार संख्या, परिवार के सदस्यों की संख्या है.
  • बाद में आपको निर्वाचन क्षेत्र में जमा करने और पूरा पता भरने की आवश्यकता है.
  • विवरण जमा करने के बाद आपको अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर प्राधिकरण से सन्देश मिलेगा जिसमें एक लिंक होता है एक बार लिंक पर क्लिक करते हैं तो आप अस्थायी राशन कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं.

नए राशन कार्ड हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म, PMKSY 2020

PMKSY Application Form| पीएम कृषि सिचांई स्कीम ऑनलाइन | प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना आवेदन | PMKSY 2020 In Hindi | PM Krishi Sinchai Yojana 2020 | Krishi Sinchai Yojana Application Form

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना: पानी या सिंचाई कृषि का सबसे आवश्यक हिस्सा है जो फसलों की पैदावार का फैसला करता है या किसान की संपूर्ण आजीविका को बढ़ाता है। अगर किसान बेहतर फसल पैदा करना चाहते हैं, तो खेतों की सिंचाई करना बहुत जरूरी है। पानी की कमी के कारण किसान के निवेश और मेहनत के साथ खेत में फसल खराब हो जाती है। इस बात को ध्यान में रखते हुए, प्रधानमंत्री ने किसानों की सभी सिंचाई समस्याओं को हल करने के लिए 2015 में प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना शुरू की है।

प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना क्या है ?

यह योजना किसानों को खेतों की सिंचाई के लिए पानी की सुविधा प्रदान करेगी। इसके तहत किसानों को सब्सिडी पर सिंचाई के उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। इससे खेतों की सिंचाई के लिए कम पानी, कम श्रम और कम लागत आएगी। कुल मिलाकर यह योजना किसानों को सिंचाई की व्यवस्था करने में मदद करती है। इस योजना का लाभ स्वयं सहायता समूह, ट्रस्ट, सहकारी समिति, निगमित कंपनियों, उत्पादन किसान समूह और अन्य पात्र संस्थानों के सदस्यों को दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना (PMKSY) को coverage हर खेत को पानी ’ की सिंचाई के विस्तार और पानी के उपयोग की दक्षता में सुधार लाने के लिए crop प्रति बूंद अधिक फसल’ स्रोत स्रोत पर समाधान के लिए एक केंद्रित तरीके से तैयार करने की दृष्टि से तैयार किया गया है.

PMKSY 2020 Overview

योजना का नामप्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना
इनके द्वारा शुरू की गयीपीएम नरेंद्र मोदी जी
लॉन्च कि तारीकवर्ष 2015
लाभार्थीदेश के किसान
ऑफिसियल वेबसाइटhttp://pmksy.gov.in/

प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना 2020 का उद्देश्य

  • खेतों की सिंचाई में पानी बचाएं।
  • किसानों को खेती में होने वाले नुकसान से बचाना होगा।
  • खेतों में पानी के उपयोग को ठीक से बढ़ावा देना होगा।
  • सिंचाई में आधुनिक तकनीक का उपयोग।

प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना 2020 के लाभ

  • किसानों को खेतों की सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था मिलेगी।
  • किसानों को सिंचाई उपकरण खरीदने पर सब्सिडी मिलती है।
  • यह योजना उस भूमि तक विस्तारित की जाएगी जो कृषि का योग होगा।
  • इस योजना के माध्यम से कृषि का विस्तार किया जाएगा।
  • देश की अर्थव्यवस्था में सुधार होगा।
  • किसानों के जीवन स्तर में सुधार होगा। केंद्र सरकार द्वारा 75 फीसदी अनुदान दिया जाएगा।
  • इसका 25 फीसदी खर्च राज्य सरकार देगी।
  • इस योजना के तहत, किसानों को ड्रिप, स्प्रिंकलर जैसी सिंचाई योजनाओं का लाभ मिलता है। नए उपकरणों के इस्तेमाल से 40 से 50 फीसदी पानी की बचत होगी।
  • फसल का उत्पादन और गुणवत्ता 35 से 40 फीसदी बढ़ जाएगी।

प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना 2020 के लिए आवेदन कैसे करें

बताया जा रहा है कि इस योजना के लिए जल्द ही किसानों से आवेदन मांगे जाएंगे। इसका लाभ लेने के लिए, किसानों को अपने राज्य के कृषि विभाग की वेबसाइट के माध्यम से आवेदन करना होगा। यदि किसान को इस योजना से संबंधित कुछ अन्य जानकारी की आवश्यकता है, तो वह अपने आधिकारिक पोर्टल https://pmksy.gov.in/ पर जाकर प्राप्त कर सकता है । प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना 2020 से जुड़ी हर जानकारी यहाँ उपलब्ध है।

Important Links

(आवेदन) अटल पेंशन योजना 2020 | Atal Pension Yojana | APY Chart & Benefits

Atal Pension Yojana | अटल पेंशन योजना 2020 | Atal Pension Yojana Chart | Atal Pension Yojana Benefits | APY 2020 | APY Online Registration | APY Apply Online

अटल पेंशन योजना 2020: केंद्र सरकार ने असंगठित क्षेत्र के लिए समर्थित पेंशन योजना के रूप में अटल पेंशन योजना शुरू की है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों की 60 वर्ष की आयु होने के बाद 1000 रु से लेकर 5000 रु तक की धनराशि पेंशन के रूप में प्रतिमाह दी जाएगी | इच्छुक उम्मीदवार अटल पेंशन योजना ऑनलाइन फॉर्म enps.nsdl.com पर भर सकते हैं

Atal Pension Yojana 2020

अटल पेंशन योजना को नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) द्वारा प्रशासित किया जा रहा है और इससे असंगठित क्षेत्र में कार्यरत लोगों को बहुत लाभ होगा। इस कल्याणकारी योजना के बारे में गहन जानकारी के लिए, इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

Atal Pension Yojana 2020 Overview

योजना का नामअटल पेंशन योजना
लॉन्च की गयीवर्ष 2015
इनके द्वारा शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के असंगठित क्षेत्रो के लोग
उद्देश्यपेंशन प्रदान करना

अटल पेंशन योजना में सदस्यता की पात्रता ?

जो भी भारत का नागरिक है, इस पेंशन योजना में शामिल हो सकता है। हालाँकि, भारत सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करने की आवश्यकता है

  • आवेदन करने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष है और आवेदन करते समय 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • व्यक्ति के पास अपने नाम से बचत बैंक खाता होना चाहिए या वह योजना में आवेदन करने से पहले एक नया खोलने का विकल्प चुन सकता है।
  • संभावित आवेदक के पास एक मोबाइल नंबर होना चाहिए जो पूर्ण विवरण के साथ बैंक में पंजीकृत होना चाहिए।

APY के तहत सरकार का सह-समन्वय प्राप्त करने के लिए कौन पात्र नहीं है?

वे व्यक्ति जो विभिन्न वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के अंतर्गत आते हैं, सरकार के सह-योगदान को प्राप्त करने के योग्य नहीं होते हैं। लाभार्थी वर्तमान में नीचे उल्लिखित सामाजिक सुरक्षा कवर के सदस्य हैं, उन्हें अधिकारियों से कोई मौद्रिक समर्थन नहीं मिलेगा। सूची में शामिल हैं:

  • ईपीएफ योजना के तहत पंजीकृत सदस्य।
  • कोल माइंस पीएफ सुरक्षा कवर के साथ पंजीकृत व्यक्ति।
  • असम चाय बागान पीएफ योजना के लाभार्थी।
  • सीमेन का पीएफ अधिनियम।
  • जम्मू और कश्मीर पीएफ योजना।
  • वे व्यक्ति जो किसी अन्य वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ ले रहे हैं, वे भी सरकार से आवेदन करने और लाभ प्राप्त करने के पात्र नहीं हैं।

Atal Pension Yojana 2020 के ज़रूरी दस्तावेज़ (पात्रता)

  • आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए |
  • उम्मीदवार की आयु 18 से 40 वर्ष होनी चाहिए |
  • आवेदक का बैंक खाता होना चाहिए तथा बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए |
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पहचान पत्र
  • स्थायी पता का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटो

अटल पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन करें

ऑनलाइन आवेदन करने और अटल पेंशन योजना फॉर्म ऑनलाइन भरने की पूरी प्रक्रिया नीचे दी गई है: –

  • सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट enps.nsdl.com पर जाएं
  • होमपेज पर, “पंजीकरण” बटन पर क्लिक करें या सीधे “ऑनलाइन सब्सक्राइबर पंजीकरण” पर क्लिक करें
  • यहां अपना आधार नंबर दर्ज करें और अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी जनरेट करें। OTP दर्ज करने के बाद, “जारी रखें” बटन पर क्लिक करें।
  • बाद में, अटल पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म नीचे दिखाया गया है: –
  • अब व्यक्तिगत विवरण, परिवार का विवरण और पावती संख्या प्रदान करें। पावती आईडी जेनरेट होने के बाद, बैंक सत्यापन के लिए बैंक / शाखा विवरण और खाता संख्या दर्ज करें।
  • इसके बाद पेंशन राशि, अंशदान आवृत्ति, नामांक भरें और सहायक दस्तावेजों को अपलोड करें और अटल पेंशन योजना ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए भुगतान करें।

अटल पेंशन खाते के लिए Offline आवेदन कैसे करें?

  • जिस बैंक में आपका बचत खाता है, उससे संपर्क करें।
  • APY पंजीकरण फॉर्म के लिए पूछें
  • इसे ध्यान से भरें और अपने आधार कार्ड का विवरण प्रदान करें
  • फॉर्म में उल्लिखित अपने मोबाइल नंबर और संपर्क विवरण का उल्लेख करें।
  • सुनिश्चित करें कि आप अपने बचत खाते में आवश्यक न्यूनतम बैलेंस बनाए रखें,
  • आपकी योगदान राशि मासिक आधार पर आपके खाते से काट ली जाएगी।

APY Scheme Contribution Chart

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना 2020 – PM Ayushhman Bharat Yojana 2020

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना | PM Ayushhman Bharat Yojana | आयुष्मान भारत योजना | Ayushman Bharat Yojana Apply Online | Ayushman Bharat Yojana Registration

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना 2020: सरकारी चिकित्सालय अवसंरचना और स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी के कारण अधिकांश परिवार निजी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर इलाज का अधिक खर्च नहीं उठा सकते हैं इस समस्या को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा PM Ayudhman Bharat Yojana शुरू की गयी. प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत, पात्र नागरिकों को 5 लाख रूपए तक की चिकित्सा सहायता और स्वास्थ्य सुविधाएं और बीमा कवर प्रदान किया जायेगा.

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना 2020 – PM Ayushhman Bharat Yojana 2020

आयुष्मान भारत योजना दुनिया के सबसे बड़े स्वास्थ्य कार्यक्रमों में से एक है, इसमें मूल रूप से प्रति वर्ष प्रति परिवार 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा शामिल है. इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को शामिल किया जाएगा. यह योजना केवल गरीबों के लिए ही नहीं बल्कि वंचित ग्रामीण परिवारों के लिए भी है. वर्ष 2011 के सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना आंकड़ों के माध्यम से हमें पता चला कि ग्रामीण क्षेत्रों में 8.3 करोड़ परिवार और क्षेत्रों में 2.33 करोड़ परिवार है और यह सभी परिवार आयुष्मान भारत योजना के तहत कवर किए जाएंगे।

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना पूर्व राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा की सदस्यता लेती है जिसे सरकार द्वारा वर्ष 2008 में लांच किया गया था. परिवार के आकार और आयु में कोई सीमा नहीं है यह योजना सार्वजनिक और निजी अस्पतालों में कैशलेस और पेपरलेस है. यह लगभग सभी माध्यमिक देखभाल और तृतीयक देखभाल प्रक्रियाओं के लिए दवा, अस्पताल में भर्ती होने वाले खर्चों को कवर करेगा। PMJAY योजना में लगभग 1400 पैकेज शामिल किए गए हैं, जिसमें घुटनों के प्रतिस्थापन कोरोनरी, बाईपास सर्जरी शामिल है.

PMJAY हेल्थ कवर श्रेणियाँ: ग्रामीण और शहरी लोगों के लिए पात्रता मानदंड

PMJAY योजना का लक्ष्य 10 करोड़ परिवारों को स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है, जो ज्यादातर गरीब हैं और निम्न मध्यम आय वाले हैं, जो स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से रु। 5 लाख प्रति परिवार। 10 करोड़ परिवारों में ग्रामीण क्षेत्रों में 8 करोड़ परिवार और शहरी क्षेत्रों में 2.33 करोड़ परिवार शामिल हैं। छोटी इकाइयों में टूट गई, इसका मतलब है कि इस योजना का लक्ष्य 50 करोड़ व्यक्तिगत लाभार्थियों को पूरा करना होगा।

हालाँकि, इस योजना की कुछ पूर्व शर्तें हैं, जिनके द्वारा यह चुना जाता है कि कौन स्वास्थ्य लाभ का लाभ उठा सकता है। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में सूची को ज्यादातर आवास, अल्प आय और अन्य अभावों के आधार पर वर्गीकृत किया गया है, पीएमजेएवाई लाभार्थियों की शहरी सूची कब्जे के आधार पर तैयार की गई है।

PMJAY ग्रामीण:

राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन के 71 वें दौर से पता चलता है कि 85.9% ग्रामीण परिवारों के पास किसी भी स्वास्थ्य बीमा या आश्वासन तक पहुंच नहीं है। इसके अतिरिक्त, 24% ग्रामीण परिवार पैसे उधार लेकर स्वास्थ्य सुविधाओं का उपयोग करते हैं। PMJAY का उद्देश्य इस क्षेत्र को ऋण जाल से बचने में मदद करना और रुपये तक की वार्षिक सहायता प्रदान करके सेवाओं का लाभ उठाना है। 5 लाख प्रति परिवार। यह योजना सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना 2011 के आंकड़ों के अनुसार आर्थिक रूप से वंचित परिवारों की सहायता के लिए आएगी। यहाँ भी, राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (RSBY) के तहत नामांकित परिवार, पीएम जन आरोग्य योजना के दायरे में आएंगे।

ग्रामीण क्षेत्रों में, PMJAY स्वास्थ्य कवर निम्नलिखित के लिए उपलब्ध है:

  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के घरों में रहने वाले
  • १६ से ५ ९ वर्ष की आयु तक कोई पुरुष सदस्य नहीं है
  • भिखारी और भिक्षा पर जीवित रहने वाले
  • १६ से ५ ९ वर्ष की आयु के बिना किसी व्यक्ति के परिवार
  • कम से कम एक शारीरिक रूप से अक्षम सदस्य और कोई सक्षम वयस्क सदस्य न होने वाले परिवार
  • भूमिहीन परिवार जो आकस्मिक मैनुअल मजदूर के रूप में काम करके जीवन यापन करते हैं
  • आदिम जनजातीय समुदाय
  • कानूनी रूप से रिहा बंधुआ मजदूर
  • एक कमरे वाले मकानों में रहने वाले परिवार जिनके पास कोई उचित दीवार या छत नहीं है
  • मैनुअल मेहतर परिवार

PMJAY शहरी:

राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन (71 वें दौर) के अनुसार, 82% शहरी परिवारों के पास स्वास्थ्य बीमा या आश्वासन तक पहुंच नहीं है। इसके अलावा, शहरी क्षेत्रों में 18% भारतीयों ने एक या दूसरे रूप में पैसे उधार लेकर स्वास्थ्य देखभाल खर्चों को संबोधित किया है। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना इन परिवारों को रु। 5 लाख प्रति परिवार, प्रति वर्ष। पीएमजेएवाई सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना 2011 के अनुसार मौजूद व्यावसायिक श्रेणी में शहरी श्रमिकों के परिवारों को लाभान्वित करेगा। इसके अलावा, राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत नामांकित किसी भी परिवार को पीएम जन सेवा योजना के साथ-साथ लाभ होगा।

शहरी क्षेत्रों में, जो सरकार द्वारा प्रायोजित योजना का लाभ उठा सकते हैं, उनमें मुख्य रूप से शामिल हैं:

  1. वाशरमैन / चौकीदार
  2. चीर बीनने वाला
  3. यांत्रिकी, इलेक्ट्रीशियन, मरम्मत श्रमिक
  4. घरेलू मदद
  5. स्वच्छता कार्यकर्ता, बागवान, सफाई कर्मचारी
  6. घर-आधारित कारीगर या हस्तकला कार्यकर्ता, दर्जी
  7. सड़कों, फुटपाथों पर काम करके सेवाएं प्रदान करने वाले कोबलर्स, फेरीवाले और अन्य
  8. प्लंबर, राजमिस्त्री, निर्माण श्रमिक, बंदरगाह, वेल्डर, चित्रकार और सुरक्षा गार्ड
  9. परिवहन कर्मचारी जैसे ड्राइवर, कंडक्टर, हेल्पर्स, गाड़ी या रिक्शा चालक
  10. सहायक, छोटे प्रतिष्ठानों में चपरासी, डिलीवरी बॉय, दुकानदार और वेटर

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत हेल्थ कवर के लिए लोग हकदार नहीं:

  1. जो एक दो, तीन या चार पहिया या एक मोटर चालित मछली पकड़ने की नाव के मालिक हैं
  2. जो कृषि यंत्रों के मालिक हैं
  3. जिनके पास किसान कार्ड हैं, जिनकी क्रेडिट सीमा रु। 50000 है
  4. सरकार द्वारा नियोजित
  5. जो सरकार द्वारा प्रबंधित गैर-कृषि उद्यमों में काम करते हैं
  6. जो लोग मासिक आय 1,0000 से ऊपर कमा रहे हैं
  7. वे स्वयं के रेफ्रिजरेटर और लैंडलाइन
  8. सभ्य, ठोस रूप से निर्मित मकान वाले
  9. जिनके पास 5 एकड़ या अधिक कृषि भूमि है

आयुष्मान भारत योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने की प्रक्रिया

इस योजना के तहत किसी व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती के दौरान या बाद में किए गए खर्चों के लिए कोई प्रीमियम शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है. यह योजना न केवल अस्पताल में भर्ती होने से पहले या बाद में होने वाले खर्च को कवर करती है बल्कि अस्पताल में भर्ती होने के बाद के खर्चों को भी कवर करती है.

जिन अस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना के तहत जोड़ा गया है उनके पास आयुष्मान मित्र होंगे जो रोगियों की सहायता के लिए अस्पताल के लाभार्थी के साथ समन्वय करेंगे ताकि खर्च में कटौती हो सके. आयुष्मान मित्र में एक हेल्प डेस्क होगा और आपके लिए दस्तावेजों, पात्रता, और नामांकन योजना का सत्यापन करेगा। लाभार्थियों को क्यूआर कोड के साथ पत्र दिए जाएंगे।

इसके अलावा इस क्यूआर कोड की स्कैनिंग और प्रमाणीकरण इस योजना के लिए लोगों की पात्रता की पहचान और सत्यापन के लिए किया जाता है ताकि लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा सकें इस योजना के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि यह पूरे देश में सक्रिय है और देश में कहीं भी किसी भी निजी अस्पताल में इस योजना के तहत स्वास्थय सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं.

भारत आयुष्मान योजना की विशेषताएं और लाभ

  • सरकारी अस्पताल के साथ-साथ निजी अस्पताल में भी इलाज करवा सकते हैं. आयुष्मान भारत योजना से बाहर होने वाले राज्यों को छोड़कर यह पूरे देश में उपलब्ध है.
  • यह योजना गरीब और कमजोर लोगों के लिए शुरू की गयी है.
  • इस योजना के तहत 5 लाख रूपए तक का बीमा कवर मौजूद है.
  • आयुष्मान भारत योजना के तहत, नवीनतम SECC या सामजिक-आर्थिक जाति जनगढ़ना के अनुसार 1.5 लाख से अधिक स्वास्थय एवं कल्याण केंद्र स्थापित किये जाएंगे.

MJAY बीमारी कवरेज: पीएम जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आने वाले गंभीर रोगों की सूची

PMJAY परिवारों को रुपये तक के वित्त पोषण के माध्यम से माध्यमिक और तृतीयक देखभाल तक पहुंचने में मदद करता है। 5 लाख प्रति परिवार, प्रति वर्ष। यह सहायता दिन देखभाल प्रक्रियाओं के लिए मान्य है और यहां तक ​​कि पहले से मौजूद स्थितियों पर भी लागू होती है। PMJAY ने सरकारी और निजी अस्पतालों में 1,350 से अधिक मेडिकल पैकेजों के लिए कवरेज का विस्तार किया।

कुछ गंभीर बीमारियां जो इस प्रकार हैं, वे इस प्रकार हैं।

  • प्रोस्टेट कैंसर
  • बाइपास तरीके से कोरोनरी आर्टरी का बदलाव
  • डबल वाल्व प्रतिस्थापन
  • स्टेंट के साथ कैरोटिड एंजियोप्लास्टी
  • फुफ्फुसीय वाल्व प्रतिस्थापन
  • खोपड़ी आधार सर्जरी
  • गैस्ट्रिक पुल-अप के साथ लैरींगोफरींजेक्टोमी
  • पूर्वकाल रीढ़ निर्धारण
  • जलने के बाद विघटन के लिए ऊतक विस्तारक

PMJAY में बहिष्करण की न्यूनतम सूची है। वे इस प्रकार हैं।

  • ओपीडी
  • औषधि पुनर्वास कार्यक्रम
  • कॉस्मेटिक संबंधी प्रक्रियाएं
  • प्रजनन संबंधी प्रक्रिया
  • अंग प्रत्यारोपण
  • व्यक्तिगत निदान (मूल्यांकन के लिए)

आयुष्मान भारत पंजीकरण: आयुष्मान भारत योजना के लिए आवेदन कैसे करें (आवेदन प्रक्रिया)

PMJAY से संबंधित कोई विशेष आयुष्मान भारत पंजीकरण प्रक्रिया नहीं है। इसका कारण यह है कि PMJAY SECC 2011 द्वारा चिह्नित सभी लाभार्थियों पर लागू होता है और जो पहले से ही RSBY योजना का हिस्सा हैं। हालाँकि, आप यहाँ देख सकते हैं कि क्या आप PMJAY के लाभार्थी बनने के योग्य हैं।

  • आवेदक को सर्वप्रथम आधिकारिक वेबसाइट ओपन कर “क्या में पात्र हूँ” पर क्लिक करना होगा.
  • अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करें और ‘जनरेट ओटीपी’ पर क्लिक करें
  • फिर अपना राज्य चुनें और नाम / एचएचडी नंबर / राशन कार्ड नंबर / मोबाइल नंबर से खोजें
  • खोज परिणामों के आधार पर आप यह सत्यापित कर सकते हैं कि आपका परिवार PMJAY के अंतर्गत आता है या नहीं

वैकल्पिक रूप से, यह जानने के लिए कि क्या आप PMJAY के योग्य हैं, आप किसी भी Empaneled Health Care प्रदाता (EHCP) से संपर्क कर सकते हैं या आयुष्मान भारत योजना कॉल सेंटर नंबर डायल कर सकते हैं: 14555 या 1800-111-565

आयुष्मान भारत योजना: PMJAY रोगी कार्ड जनरेशन

एक बार जब आप PMJAY लाभ के लिए पात्र हो जाते हैं, तो आप ई-कार्ड प्राप्त करने की दिशा में काम कर सकते हैं। इस कार्ड को जारी करने से पहले, आपकी पहचान को आपके आधार कार्ड या राशन कार्ड जैसे दस्तावेज़ की मदद से PMJAY कियोस्क पर सत्यापित किया जाता है। जिन पारिवारिक पहचान प्रमाणों का उत्पादन किया जा सकता है उनमें सदस्यों की एक सरकारी प्रमाणित सूची, पीएम पत्र और एक आरएसबीवाई कार्ड शामिल हैं। एक बार सत्यापन पूरा हो जाने के बाद, ई-कार्ड को विशिष्ट AB-PMJAY आईडी के साथ प्रिंट किया जाता है। आप इसे भविष्य में किसी भी बिंदु पर प्रमाण के रूप में उपयोग कर सकते हैं।

स्ट्रीट वेंडर लोन योजना: 10,000 रुपये स्पेशल क्रेडिट, ऑनलाइन आवेदन रजिस्ट्रेशन फॉर्म

स्ट्रीट वेंडर लोन योजना | Street Vendor Loan Scheme | स्ट्रीट वेंडर लोन योजना ऑनलाइन आवेदन | स्ट्रीट वेंडर लोन योजना रजिस्ट्रेशन फॉर्म | Street Vendor Loan Scheme In Hindi

स्ट्रीट वेंडर लोन योजना: मोदी प्रशासन ने अब तक धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था को खोलते हुए लॉकडाउन के दर्द को कम करने के प्रयास में छोटे व्यवसायों, प्रवासी श्रमिकों, किसानों, सड़क विक्रेताओं और आदिवासी समुदाय के सदस्यों से संबंधित अपने 20 करोड़ रुपये के पैकेज के कुछ हिस्सों की घोषणा की है। यह उपाय एक मानवीय राहत का हिस्सा हैं, जबकि आने वाले दिनों में एक-डेढ़ महीने से अधिक समय से व्यापार के नुकसान से जूझ रहे बड़े उद्योगों के बारे में चिंता व्यक्त की जा रही है।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि संकटग्रस्त स्ट्रीट वेंडर्स को एक स्ट्रीट वेंडर लोन योजना के तहत व्यवसाय को फिर से शुरू करने के लिए 10,000 रुपये तक के कार्यशील पूंजी ऋण मिलेंगे। आजीविका के नुकसान के दर्द को कम करने के लिए कदमों की घोषणा करते हुए, सीतारमण ने कहा कि स्ट्रीट वेंडर जिनकी आजीविका बंद होने के कारण प्रभावित हुई थी, इस सुविधा का उपयोग अपने व्यवसाय को फिर से शुरू करने के लिए कर सकते हैं।

स्ट्रीट वेंडर लोन योजना | Street Vendor Loan Yojana

स्ट्रीट वेंडर लोन योजना के अंतर्गत सड़क विक्रेताओं के लिए ऋण तक आसान पहुंच प्रदान करेगी। राज्यों के एक अनुमान के अनुसार 50 लाख स्ट्रीट वेंडर हैं। वे बेचने के लिए उत्पाद खरीद सकते हैं। उनका ध्यान रखा जाएगा। कार्यशील पूंजी योजना के लिए, “हमें सरकार द्वारा 5000 करोड़ रुपये की तरलता की उम्मीद है”।

रोजगार सेतु योजना 2020: ऑनलाइन आवेदन MP Rojgar Setu Yojana रजिस्ट्रेशन

Street Vendor 10,000 Rupyee Special Credit Loan Scheme

सीतारमण द्वारा घोषित राहत उपायों पर एक आधिकारिक प्रस्तुति में कहा गया है कि डिजिटल भुगतान को मौद्रिक पुरस्कारों के माध्यम से प्रोत्साहित किया जाएगा और अच्छे पुनर्भुगतान व्यवहार के लिए बढ़ाया गया कार्यशील पूंजी ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।

राहत के उपाय मानवीय संकट के मद्देनजर आए हैं, जिसमें हाल के दिनों में शहरी केंद्रों से गांवों में बड़े पैमाने पर प्रवासी श्रमिकों की अनदेखी देखी गई। सभी स्ट्रीट वेंडर्स को 5000 करोड़ रुपये की आसान क्रेडिट सुविधा और अगले 12 महीनों के लिए 50,000 रुपये या उससे कम के मुद्रा-शिशु ऋण के तहत 2% का ब्याज सबवेंशन सपोर्ट, विक्रेताओं और व्यवसायों को उनकी गतिविधियों को फिर से शुरू करने में मदद करेगा।

स्ट्रीट वेंडर लोन योजना का उद्देश्य

कोरोना वैश्विक महामारी के कारण छोटे और लघु उद्योगकर्मियों को काफी नुक्सान पहुंचा है. मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में स्ट्रीट वेंडर जो सड़को पर सब्जी, फल इत्यादि बेचते है, उन्हें 10000 रूपए तक का लोन मुहैया कराया जाएगा. इस लोन के माध्यम से वह संकट की इस स्थिति में अपने व्यवसाय को उबारने में सक्षम होंगे.

यूपी प्रवासी श्रमिक स्किल मैपिंग प्रथम सूचि जारी

स्ट्रीट वेंडर लोन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • व्यक्तिगत पहचान पत्र: आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड, पैन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र: निवास प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, आधार कार्ड,
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • नरेगा जॉब कार्ड/श्रमिक card

स्ट्रीट वेंडर लोन/कर्ज योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

यदि आप स्ट्रीट वेंडर लोन योजना के तहत 10000 रूपए का लोन लेना चाहते है तो आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है.

  • सबसे पहले आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा. इस फॉर्म में पूछी गयी समस्त जानकारी सही सही भरे.
  • उचित सत्यापन होने के बाद लाभार्थी के बैंक खाते में लोन की राशि हस्तांतरित कर दी जायेगी.

स्ट्रीट वेंडर लोन/कर्ज योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  • इस योजना में आप ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते है.
  • आपको अपने नजदीकी श्रम विभाग कार्यालय में जाना होगा.
  • वहां से आपको स्ट्रीट वेंडर लोन योजना का फॉर्म लेना होगा.
  • फॉर्म में आपको समस्त जानकारी भरनी होगी.
  • समस्त जानकारी भरकर, आवेदन पत्र के साथ दस्तावेजों को अटैच कर आवेदन फॉर्म जमा करा दें.
  • सक्षम अधिकारीयों द्वारा आपके आवेदन फॉर्म का उचित सत्यापन करने के बाद, पात्र लाभार्थियों के खातों में लोन की रकम जमा कर दी जायेगी.

यूपी प्रवासी श्रमिक स्किल मैपिंग प्रथम सूचि जारी

उत्तर प्रदेश प्रवासी श्रमिक रोजगार योजना सूचि | UP Migrant Workers Skill Mapping Ist List 2020 | Pravasi Shramik Rojgar Yojana

UP Migrant Workers Skill Mapping Ist List 2020: उत्तर प्रदेश सरकार ने लगभग 15 लाख प्रवासी श्रमिकों की कौशल मानचित्रण पूरा कर लिया है जो अन्य राज्यों से तालाबंदी के दौरान वापस आ गए हैं और इस मानचित्रण से उन्हें अपने स्थानों के पास काम करने में मदद मिलेगी। राज्य सरकार ने प्रवासी आयोग का गठन किया है जो प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार और सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तय किया है कि राज्य सरकार की अनुमति के बिना कोई भी अन्य राज्य उत्तर प्रदेश के मजदूरों की सेवा प्राप्त नहीं कर सकेगा।

AIR संवाददाता की रिपोर्ट है कि प्रवासी आयोग यह सुनिश्चित करेगा कि सामाजिक सुरक्षा की गारंटी देने के बाद ही कोई भी राज्य, उत्तर प्रदेश के श्रमिकों और मजदूरों की सेवा प्राप्त कर सकेगा। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से अन्य राज्यों को पत्र भेजने के लिए कहा है ताकि वे अभी भी उत्तर प्रदेश वापस आना चाहते हैं और हम उन्हें वापस लाएंगे। उन्होंने अधिकारियों को अगले 15 दिनों में सभी श्रमिकों के कौशल मानचित्रण को पूरा करने का निर्देश दिया है।

यूपी प्रवासी श्रमिक स्किल मैपिंग प्रथम सूचि जारी

अब तक लगभग 15 लाख प्रवासी श्रमिकों ने कौशल मानचित्रण के पहले चरण में अपना पंजीकरण कराया है। कौशल में ऑटो मैकेनिक काम, ड्राइविंग, बिजली का काम, सिलाई और अन्य काम शामिल हैं। राज्य सरकार राज्य में मजदूरों के कौशल प्रशिक्षण को भी सुनिश्चित करेगी और राज्य में श्रमिकों के लिए वजीफा और बीमा कवर प्रदान करेगी। अगर किसी भी श्रमिक को अपने गृह नगर के अलावा किसी अन्य राज्य में नौकरी मिलती है तो सरकार उसके लिए आवास की भी व्यवस्था करेगी। इस लेख में हम आपको UP Migrant Workers Skill Mapping 1st List 2020 In Hindi | Check Pravasi Shramik Rojgar Yojana List | उत्तर प्रदेश प्रवासी श्रमिक रोजगार योजना लाभार्थी सूची की पूरी जानकारी उपलब्ध कराने जा रहें हैं, इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें

यूपी प्रवासी श्रमिक/मजदूर स्किल मैपिंग प्रथम सूची जारी 2020

UP Migrant Workers Skill Mapping 1st List Released: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने 14.75 लाख प्रवासी कामगारों की स्किल मैपिंग का काम पूरा कर लिया है, जो तालाबंदी के दौरान राज्य वापस आ गए हैं। प्रवासी श्रमिकों की कौशल मानचित्रण उनके लिए रोजगार प्रदान करने में मदद करेगा।

योजना का नाम यूपी प्रवासी श्रमिक रोजगार स्किल मैपिंग
लांच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा
उद्देश्य कोरोना संकट के दौरान प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर प्रदान करना
लाभार्थी प्रवासी श्रमिक/मजदूर/कामगार
श्रमिक पंजीकरण जल्द ही शुरू
प्रवासी मजदूर स्किल मैपिंग 1st List जल्द ही उपलब्ध
सम्बंधित विभाग उत्तर प्रदेश श्रम विभाग
आधिकारिक वेबसाइटhttp://uplabour.gov.in/

उत्तर प्रदेश प्रवासी मजदूरों की स्किल मैपिंग पहली सूची- UP Migrant Workers Skill Mapping 1st List:

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने श्रम कल्याण बोर्ड के गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी है. कोरोना वायरस के के कारण लॉक डाउन के चलते 25 लाख प्रवासी मजदुर UP लौट आए है. प्रवासी को रोजगार देने के लिए प्रत्येक प्रवासी को कौशल मानचित्रण कर मैप किया गया है.

  • उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने 14.75 लाख प्रवासी कामगारों की स्किल मैपिंग का काम पूरा कर लिया है, जो तालाबंदी के दौरान राज्य वापस आ गए हैं।
  • सरकार सभी प्रवासी श्रमिकों को कौशल के आधार पर रोजगार देने की तैयारी कर रही है, जिससे उनकी सामाजिक सुरक्षा भी सुनिश्चित होगी। अब तक 25 लाख प्रवासी राज्य लौट चुके हैं।
  • प्रवासी कामगारों को बीमा कवर दिया जाएगा और अगर सरकार उन्हें दूसरे जिले में ले जाती है तो सरकार उन्हें आवास भी प्रदान करेगी।

उत्तर प्रदेश में कौशल के आधार पर प्रवासियों के लिए काम

  • प्रवासी श्रमिकों की कौशल मानचित्रण उनके लिए रोजगार प्रदान करने में मदद करेगा।
  • रियल एस्टेट कारोबार में काम करने वालों की संख्या लगभग 1,51,492 लाख है, जबकि फर्नीचर और फिटिंग में कुशल 26,989 हैं।
  • भवन सज्जाकार की संख्या 26,041 है और घर की सजावट में कुशल 12,633 हैं। प्रवासी श्रमिकों में से 10,000 चालक हैं और 1,558 ऑटोमोबाइल तकनीशियन हैं जबकि 4,680 बिजली के हैं।
  • घरेलू उपकरणों के लिए तकनीशियन 5,884, पैरा-मेडिक्स 596, ड्रेसमेकर 12,103 और ब्यूटीशियन 2727 हैं।
  • प्रवासियों के बीच कालीन निर्माता 1,294 हैं और जो सुरक्षा गार्ड के रूप में काम कर रहे हैं, वे 3,364 हैं।

उत्तर प्रदेश आवास योजना सूचि 2020-21: UP Awas Yojana List (PMAY)

उत्तर प्रदेश आवास योजना सूचि | प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट | PM Awas Yojna List UP | UP Awas Yojana List | UP Awas Yojana Beneficiary List | आवास योजना सूचि उत्तर प्रदेश | PM Awas Yojana Status | PMAY Online Apply

उत्तर प्रदेश आवास आवास योजना सूचि | UP Awas Yojna List 2020-21

उत्तर प्रदेश आवास योजना सूचि 2020-21: हेलो दोस्तों आज हम आपको उत्तर प्रदेश आवास योजना सूचि में ऑनलाइन नाम कैसे देखना की इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान करने जा जा रहें है. ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित इंदिरा गाँधी आवास योजना का नाम बदलकर प्रधानमंत्री आवास योजना कर दिया गया है. पीएम आवास योजना (पीएमएवाई) के तहत गरीब लोग जो की झुग्गी, झोपडी, में अपना जीवन यापन कर रहें है, उनको मकान बनाने के लिए आर्थिक सहायता के रूप में प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी. इस योजना का लाभ दिहाड़ी मजदूरों, श्रमिकों, बीपीएल कार्ड धारकों, और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को मिलेगा.

उत्तर प्रदेश आवास आवास योजना सूचि 2020-21

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें की, UP Awas Yojna List ऑनलाइन देखी जा सकती है. PMAY सूचि में नाम होने से आपको प्रोत्साहन राशि उपलब्ध कराई जायेगी. इस लेख में हम आपको उत्तर प्रदेश आवास योजना सूचि में नाम कैसे देखना है, इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान करने जा रहें। इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

यह भी पढ़ें: {रजिस्ट्रेशन} यूपी संगम ऑनलाइन लोन मेला 2020 | UP Yogi Rojgar Sangam Online Loan Mela

Uttar Pradesh Awas Yojana list Check Naam | पीएम आवास योजना सूचि में अपना नाम देखें

सबसे पहले आपका यह जानना जरुरी है की आवास योजना में किन-किन लोगों का नाम शामिल होता है.

उत्तरप्रदेश आवास सूचि में सर्वे 2011 के अनुसार आवेदन लिए जाते है. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें की प्रत्येक वर्ष प्रधानमंत्री आवास योजना में पात्र लाभार्थियों की सूचि जारी की जाती है. उसके बाद उन लाभार्थियों को आवास उपलब्ध कराएं जाते है. यदि आपने भी इस योजना में आवेदन किया है तो आप भी Pradhan Mantri Awas Yojana List 2020-21 (PMAY) में अपना नाम ऑनलाइन देख सकते है. PMAY लाभार्थी सूचि में आपका नाम होने पर आपको सरकार की तरफ से पक्का मकान बनाने के लिए सहायता राशि दी जायेगी.

यह भी पढ़ें: एक देश एक राशन कार्ड योजना | One Nation One Ration Card, Apply Online

उत्तर प्रदेश आवास योजना सूचि कैसे देखें ?

अब हम आपको उत्तर प्रदेश आवास योजना सूचि कैसे देखनी है, इसकी जानकारी से अवगत कराने जा रहें है.

  • सर्वप्रथम आवेदक को PM Awas Yojana की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा.
  • Official Website: https://rhreporting.nic.in/netiay/Benificiary.aspx
  • आधिरकारिक वेबसाइट ओपन होने के बाद आपको “रजिस्ट्रेशन संख्या” डालकर सबमिट बटन पर क्लिक करना है.
UP awas yojna list
  • सबमिट बटन पर क्लिक करते ही, आपको UP Awas Yojana की सारी जानकारी मिल जायेगी.
  • यदि आपके पास रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है तो आप “Advanced Search” पर क्लिक करें.
up awas yojna list 2020-21
  • अब आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा, इस पेज पर आपको मांगी जानकारी भरकर सर्च बटन पर क्लिक कर दें.
  • क्लिक करते ही आपको सामने PM Awas Yojna List आ जाएगी. इस लिस्ट में आप अपना नाम चेक कर सकते है.