सुपरमून 2022: गुरु पूर्णिमा पर देखें सुपरमून, जानिए कब दिखाई देगा आसमान में

भोपाल: मध्य प्रदेश में 13 जुलाई को गुरु पूर्णिमा (गुरु पूर्णिमा और सुपरमून) मनाई जाती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को गुरु पूर्णिमा की बधाई दी है। भारतीय परंपरा के अनुसार 13 जुलाई को आप अपने गुरुओं को प्रणाम करेंगे। शाम के बाद से गुरु पूर्णिमा का चांद भी साल के सबसे बड़े चांद के तौर पर आसमान में महसूस किया जाएगा। इस खगोलीय घटना का वर्णन करते हुए, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता विज्ञान प्रसारक सारिका घरू ने कहा कि हालांकि यह पृथ्वी से 3,57,418 किमी दूर रहता है, लेकिन यह इस वर्ष सबसे नजदीक होगा। इससे इसका आकार अपेक्षाकृत बड़ा होगा और चमक ज्यादा महसूस होगी। हाल के दशकों में, इस खगोलीय घटना को सुपरमून कहा गया है।


सारिका ने कहा कि सुपरमून शाम के करीब सात बजे पूर्वी आकाश में उदय होगा और आधी रात को उसके सिर के ठीक ऊपर होगा। वह भोर को पश्‍चिम में लेटेगा और रात भर तेरे साथ रहेगा। पश्चिमी देशों में इसे बक मून के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि वहां का नर हिरण इस समय अपने सींग उगाने लगता है।

सूर्य पृथ्वी से और दूर है
इस समय सूर्य पृथ्वी से सबसे दूर होता है इसलिए आज चंद्रमा पृथ्वी के करीब आ जाएगा। अण्डाकार कक्षा के चारों ओर पृथ्वी की कक्षा के कारण, सूर्य 4 जुलाई को वर्ष की सबसे लंबी दूरी पर था और लगभग 15.21 मिलियन किमी की दूरी पर रहा। साथ ही चंद्रमा भी इस साल की पूर्णिमा के सबसे करीब आता है क्योंकि पृथ्वी की कक्षा अण्डाकार कक्षा में है।

सारिका ने कहा कि शाम के आसमान में रात को उजाला करने वाले चांद को देखना न भूलें। कुछ जगहों पर इसको लेकर खास तैयारी भी की गई है।

यह भी पढ़ें

सुपरमून 2022: साल का सबसे बड़ा सुपरमून 13 जुलाई को दिखेगा, जानिए कब दिखेगा और क्यों है बेहद खाससुपरमून 2022: धरती के करीब पहुंच रहा है ‘चंदा मामा’, 13 जुलाई को दिखेगा साल का सबसे बड़ा सुपरमून, सभी जानते हैं

Leave a Comment

Aadhaar Card Status Check Online PM Kisan eKYC Kaise Kare Top 5 Mallika Sherawat Hot Bold scenes