पाकिस्तान में बचा है सिर्फ पांच दिनों का डीजल, महंगाई के बाद इमरान सरकार के सामने नई चुनौती

अब पाकिस्तान में डीजल का स्टॉक खत्म होने को है. देश में डीजल के महज पांच दिन बचे हैं.

पाकिस्तान में महंगाई के बीच अब डीजल का संकट खड़ा हो गया है. इसके बाद से ही इमरान खान सरकार के लिए एक नई मुसीबत खड़ी हो गई है, जो महंगाई के मुद्दे पर नाकाम रही है। मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान के पास अब सिर्फ पांच दिन का डीजल बचा है.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के पास सिर्फ पांच दिनों का डीजल स्टोरेज बचा है. 2008 के बाद पहली बार युद्ध के कारण ऐसी स्थिति पैदा हुई है। वहीं, अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमत 112 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच गई, जो रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध शुरू होने से पहले 94 डॉलर प्रति बैरल थी.

राज्य की तेल विपणन कंपनी पाकिस्तान स्टेट ऑयल (पीएसओ) ने बिजली मंत्रालय के महानिदेशक को भेजे पत्र में स्थिति की जानकारी दी है. तेल कंपनियों की संस्था ऑयल कंपनी एडवाइजरी काउंसिल (OCAC) ने पहले ही पाकिस्तानी सरकार को स्टॉक की वैश्विक कमी के कारण डीजल की कमी के संकट के बारे में चेतावनी दी थी। एक और कारण था जिसने संकट का कारण बना। पाकिस्तानी बैंकों ने भी तेल कंपनियों को हाई रिस्क कैटेगरी में रखा था और कर्ज देने से इनकार कर दिया था।

ऑयल कंपनीज एडवाइजरी काउंसिल ने भी बैंक ऑफ पाकिस्तान के गवर्नर को इस संबंध में हस्तक्षेप करने के लिए एक पत्र लिखा था। जनवरी से मार्च 2022 तक डीजल के आयात में 205,000 टन की कमी आई है। जिससे पाकिस्तान में यह संकट गहराता नजर आ रहा है।

यूएस एनर्जी इंफॉर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार, संयुक्त राज्य में ईंधन तेल डिस्टिलेट का स्टॉक 21% गिरकर 30 मिलियन बैरल हो गया, जो पांच साल के औसत से नीचे और 2005 के बाद के निम्नतम स्तर से नीचे है। यूरोप में भी यही सच है।

आपको बता दें कि इमरान खान की सरकार पहले भी महंगाई के मुद्दे से लड़ते नजर आ चुकी है। पाकिस्तान में महंगाई को लेकर विपक्ष पहले ही सरकार पर निशाना साध चुका है. अब डीजल की कमी को लेकर इमरान खान की सरकार मुश्किल में नजर आ रही है.

Leave a Comment

Aadhaar Card Status Check Online PM Kisan eKYC Kaise Kare Top 5 Mallika Sherawat Hot Bold scenes