दुनिया की पांच ऐसी खुफिया एजेंसी जो अपने कामों से लोगों को चौंका देती हैं

दुनिया में कई ऐसी खुफिया सेवाएं हैं, जो बेहद ताकतवर मानी जाती हैं। कुछ एजेंसी जासूस पूरी दुनिया में फैले हुए हैं, जो बहुत ही काबिल और खतरनाक माने जाते हैं।

दुनिया के लगभग सभी देश अपनी आंतरिक और बाहरी सुरक्षा से अवगत हैं। देश अपनी खुफिया सेवा के माध्यम से इस जानकारी की सुविधा प्रदान करते हैं। इन एजेंसियों के जासूस अलग-अलग जगहों पर रहकर अपने देश की मदद करते हैं। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसी खुफिया एजेंसी के बारे में बताने जा रहे हैं, जो दुनिया में सबसे बेहतरीन मानी जाती है। वहीं इनके जासूस भी बेहद खतरनाक माने जाते हैं।

मोसाद: यह इजरायल की राष्ट्रीय खुफिया सेवा है और इसे दुनिया की सबसे खतरनाक एजेंसी माना जाता है। इसकी स्थापना 1949 में हुई थी और इसका मुख्यालय तेल अवीव में है। मोसाद से जुड़े जासूस पूरी दुनिया में फैले हुए हैं। उनका मुख्य कार्य आतंकवाद को रोकना, गुप्त अभियान चलाना और खुफिया जानकारी के माध्यम से जानकारी जुटाना है। मोसाद के निदेशक सीधे देश के प्रधानमंत्री को रिपोर्ट करते हैं। माना जाता है कि मोसाद से जुड़े करीब 7,000 जासूस दुनिया भर में फैले हुए हैं, जो किसी भी कदाचार के खिलाफ सीधी कार्रवाई करने के लिए जाने जाते हैं.

सीआईए: CIA का पूरा नाम सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी है। इसे न केवल अमेरिका बल्कि पूरी दुनिया में सबसे सक्षम खुफिया सेवा माना जाता है। 1947 में बनी इस एजेंसी का मुख्यालय वाशिंगटन के वर्जीनिया क्षेत्र में है। अमेरिका में CIA का मुख्य मिशन देश में आतंकवाद और साइबर अपराध को रोकना है। रिपोर्ट्स के मुताबिक CIA को सबसे ज्यादा बजट वाली एजेंसी कहा जाता है। CIA मुख्य रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के आदेश पर काम करती है। इसके अलावा, एफबीआई, एनएसए और डीआईए जैसी एजेंसियां ​​भी अमेरिकी खुफिया सेवा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

कच्चा (आर एंड डब्ल्यू): भारत की खुफिया सेवा RAW का पूरा नाम रिसर्च एंड एनालिसिस विंग है। यह एजेंसी दुनिया की सबसे सक्षम, शक्तिशाली और खतरनाक खुफिया सेवाओं में से एक है। रॉ की स्थापना 21 सितंबर 1968 को हुई थी और इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है। रॉ का मुख्य कार्य अंतरराष्ट्रीय गतिविधियों की निगरानी, ​​गुप्त संचालन और देश को आंतरिक और बाहरी रूप से सुरक्षित रखते हुए जानकारी एकत्र करना है। इसके अलावा खुफिया एजेंसी देश की सुरक्षा के लिए भी काम करती है। रॉ सीधे देश के प्रधानमंत्री को रिपोर्ट करता है और कई बार अपने कामों से पूरी दुनिया को हैरान कर चुका है। रिसर्च एंड एनालिसिस विंग यानी रॉ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक जासूसी संगठन है।

एमएसएस: एमएसएस, यानी। राज्य सुरक्षा मंत्रालय, चीन की सबसे बड़ी खुफिया सेवा है। एमएसएस 1983 में बनाया गया था, जिसका मुख्यालय बीजिंग में है। यह एजेंसी प्रति-खुफिया, विदेशी खुफिया और राजनीतिक सुरक्षा प्रदान करने का काम करती है। CID पहले चीन में काम करती थी, जिसका बाद में MSS में विलय हो गया। इसके अलावा ज्वाइंट स्टाफ खुफिया एजेंसी चीन में एमएसएस के समकक्ष सैन्य एजेंसी के रूप में भी काम करती है।

मैं हूँ: पाकिस्तान की प्रमुख खुफिया सेवा ISI का पूरा नाम इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस है। ISI की स्थापना 1948 में हुई थी और इसका मुख्यालय अबरापारा, इस्लामाबाद में है। इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) दुनिया की सबसे खतरनाक एजेंसियों में से एक है। ISI के महानिदेशक सीधे प्रधान मंत्री और चीफ ऑफ स्टाफ दोनों को रिपोर्ट करते हैं। इसके अलावा, आईएसआई मुख्य रूप से पाकिस्तानी सरकार को खुफिया जानकारी प्रदान करने पर केंद्रित है। लेकिन कई बार इस खुफिया सेवा पर आतंकवाद को बढ़ावा देने के आरोप भी लगते रहे हैं.

Leave a Comment

Aadhaar Card Status Check Online PM Kisan eKYC Kaise Kare Top 5 Mallika Sherawat Hot Bold scenes