जब 1966 में चोरी हो गई FIFA World Cup की ट्रॉफी, फिर एक डॉगी ऐसे बना इंग्लैंड का मसीहा

वर्ल्ड कप यानी फुटबॉल का बड़ा कुंभ। फीफा के दौरान अक्सर ऐसी घटनाएं हुई हैं, जो दुनिया भर में चर्चा का विषय रही हैं। ऐसी ही एक घटना 1966 में सामने आई थी, जब विश्व कप की मेजबानी कर रहे इंग्लैंड में तबाही मच गई थी। दरअसल, 1966 में होने वाले वर्ल्ड कप से चार महीने पहले एक हॉल में रखी ट्रॉफी चोरी हो गई थी। जिसे पुलिस कई दिनों तक नहीं ढूंढ पाई तो एक कुत्ता इंग्लैंड के लिए मसीहा बन गया।

इंग्लैंड में 1966 विश्व कप से पहले लंदन के वेस्टमिंस्टर के सेंट्रल हॉल में ट्रॉफी का प्रदर्शन किया गया था। लेकिन विश्व कप शुरू होने से करीब चार महीने पहले 20 मार्च 1966 को ट्रॉफी चोरी हो गई। इस घटना से लंदन में फीफा प्रबंधन और स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस फंस गई थी। जब चोरी हुई तब सुरक्षा गार्डों ने ब्रेक लगा दिया था और प्रार्थना सभा हॉल के दूसरे हिस्से में हो रही थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक वर्ल्ड कप के लिए रखी गई इस ट्रॉफी की कीमत करीब तीस हजार पाउंड है. घटना के बाद लंदन में स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने कई दिनों तक ट्रॉफी की तलाश की लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लगा। जब दुनिया भर के अखबारों में यह खबर छपी तो इंग्लैंड का घोर अपमान हुआ। इस बीच, फुटबॉल एसोसिएशन के तत्कालीन अध्यक्ष जो मियर्स को एक अज्ञात पत्र मिला, जिसमें ट्रॉफी के बदले फिरौती की मांग की गई थी।

पत्र लिखने वाले ने जैक्सन से इस पर हस्ताक्षर करवाए और ट्रॉफी के बदले 15 हजार यूरो की फिरौती मांगी। पुलिस ने चोर को पकड़ने के लिए जाल बिछाया और दावा स्वीकार कर लिया गया। इसके बाद पुलिस ने सूटकेस में नोटों को कागज के रूप में भर दिया और कुछ मूल नोट ऊपर रख दिए। पैसे देने आई टीम ने जैक्सन नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था, लेकिन बंदी ने कहा कि उसका असली नाम एडवर्ड बटली था और वह पहले सेना में था।

चोरी के सात दिन बीत चुके थे और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था, लेकिन ट्रॉफी नहीं मिली। इसी बीच लंदन के साउथ नारवुड इलाके में डेव कॉर्बेट अपने डॉगी अचार के साथ घूमने निकल गए। कुछ देर बाद अचार एक कार के पास चक्कर लगाने लगा। दवे ने पास जाकर देखा तो कुछ चीजें कागज में लिपटी हुई थीं। उसने कागज हटा दिया और देखा कि यह विश्व कप ट्रॉफी थी। दवे ने इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस को दी, जिसके बाद दवे से भी काफी देर तक पूछताछ की गई।

कई घंटे की पूछताछ के बाद दवे को छोड़ दिया गया। फिर जल्द ही यह खबर फैल गई कि अचार नाम के कुत्ते ने ट्रॉफी की खोज कर ली है। इसके बाद डेव कॉर्बेट और उनके डॉगी अचार को फिर से सम्मानित किया गया। फिर अचार दुनिया भर में स्टार बन गया। बता दें कि 1966 में सिर्फ इंग्लैंड ने वर्ल्ड कप जीता था। घटना के एक साल बाद डॉगी अचार की मौत हो गई।

Leave a Comment

Aadhaar Card Status Check Online PM Kisan eKYC Kaise Kare Top 5 Mallika Sherawat Hot Bold scenes